Akhilesh-Yadav

अखिलेश का मिशन 2024...

अखिलेश का मिशन 2024...

Akhilesh yadav 's mission: मिशन 2024 के लिए सभी पार्टीयां जोरो शोरो से तैयारियों में जुट गई हैं...वहीं उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव और उसके बाद लोकसभा उपचुनाव में मिली हार के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव 2024 के लिए नई रणनीति बनाने में जुट गए हैं

Akhilesh Yadav formed Samajwadi Babasaheb Vahini keeping an eye on Dalit  votes - अखिलेश यादव ने बनाई पार्टी की नई विंग! बसपा से सपा में आए नेता को  बनाया अध्यक्ष

अब अखिलेश यादव मुस्लिम और यादव वोट के साथ ही अगले दो साल तक युवाओं और हिंदू वोटों को साधने की कोशिश करेंगे और इसके लिए उन्होंने प्लान भी तैयार कर लिया है. अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव पर पूरा-पूरा फोकस कर रहे हैं...अखिलेश अच्छी तरह से जानते हैं कि ये चुनाव उनके लिए कितना अहम है. क्योंकि 2012 से उनके नेतृत्व में लगातार पार्टी को हार का सामना करना पड़ रहा है

UP Election 2022: मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश यादव, समाजवादी  पार्टी का ऐलान - akhilesh yadav mainpuri karhal up assembly election 2022  seat ntc - AajTak

समाजवादी पार्टी पर मुसलमानों और यादवों की पार्टी होने का आरोप लगता आया है. इसके कारण हिंदुओं का वोट सपा को नहीं मिलता है. राज्य में ओबीसी में से यादव ही सपा को वोट देते हैं. जबकि उच्च जातियां सपा से दूरी बना कर रखती है. लिहाजा अखिलेश यादव अब इस मिथक को तोड़ना चाहते हैं. पिछले दिनों ही अखिलेश यादव ने पूजा करते हुए एक तस्वीर सोशल मीडिया में शेयर की थी।

 जिसके बाद वह निशाने पर आ गये थे. यही नहीं अखिलेश यादव ने मंदिर जाना शुरू कर दिया है और वह हिंदुओं को लुभाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. अखिलेश यादव ने पत्नी डिंपल के साथ घर पर रुद्राभिषेक भी किया था. जबकि इससे पहले अखिलेश यादव ने पूजा की तस्वीरों को शेयर नहीं किया था. लिहाजा इसके मायने समझे जा सकते हैं।

Samajwadi Party Chief Akhilesh Yadav Working With Special Plan For Lok  Sabha Election 2024 In Purvanchal Ghazipur Mau Azamgarh Varanasi Ann | Lok  Sabha Election 2024: 'मिशन 2024' की तैयारी में लगी

आमतौर पर सपा की ताकत युवाओं को माना जाता है. लेकिन राज्य में पिछले पांच साल युवाओं को झुकाव बीजेपी की तरफ हुआ है और इसके कारण सपा को नुकसान हुआ है. लिहाजा अखिलेश यादव ने नया प्लान तैयार किया है. इस प्लान के तहत वह पार्टी संगठन और टिकट वितरण में युवाओं को प्राथमिकता देंगे. हालांकि ये तो चुनाव के बाद ही पता चलेगा कि अखिलेश यादव का बीजेपी को टक्कर देने का ये प्लान कितना सफल होगा


Comment As: