19_07_2022-dpsnews_22904915_134953924

हरियाणा में डीएसपी को खनन माफिया ने डंपर से कुचला मौके पर मौत

हरियाणा में डीएसपी को खनन माफिया ने डंपर से कुचला मौके पर मौत

DSP in Haryana: हरियाणा के नूंह जिले में खनन माफिया की हैवानियत सामने आई है। मिली जानकारी के मुताबिक, खनन माफिया से जुड़े लोगों ने नूंह जिले के तावड़ू में तैनात डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई पर डंपर चढ़ा दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

Haryana DSP Murder: अरावली की 31 पहाड़ियां खोदकर खा गए खनन माफिया, DSP सुरेंद्र  सिंह की हत्या के बाद फिर उठे सवाल - haryana dsp surendra singh bishnoi  murder survey aravalis for 

इस बीच राज्य के गृहमंत्री अनिल विज ने आरोपित खनन माफिया पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है। गुरुग्राम से सटे नूंह जिला के तावडू थाना क्षेत्र के गांव पचगांव की यह घटना है। गांव से सटी अरावली पहाड़ी पर अवैध रूप से खनन किए जाने की सूचना डीएसपी (तावडू) सुरेंद्र सिंह बिश्नोई को मिली थी। इसके बाद मंगलवार सुबह 11 बजे वह अपनी टीम के साथ पहुंचे।

DSP सुरेंद्र कुमार बिश्नोई की हत्या.

पुलिस टीम को देख पहाड़ी के पास खड़े डंपर लेकर उनके चालक और खनन में लगे लोग भागने लगे। वाहन रोकने के लिए डीएसपी आगे आए तो डंपर चालक ने उनके ऊपर वाहन चढ़ा दिया और मौके से फरार हो गया। डंपर के टायर के नीचे आने से डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही एसपी नूंह वरुण सिंगला मौके पर पहुंचे हैं। डीएसपी मूल रूप से हिसार के रहने वाले थे।

घटना के दौरान वह खनन माफिया पर लगाम लगाने के मकसद से मौके पर पहुंचे थे। अवैध खनन की सूचना सुरेंद्र सिंह बिश्नोई को फोन के जरिये मिली थी। इसके बाद वह दलबल के साथ मौके पर पहुंचे थे। इस दौरान देखते-देखते खनन माफिया ने नूंह जिले के डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई पर डंपर चढ़ा दिया, जिससे उनकी जान चली गई।यानि इसी साल डीएसपी सुरेंद्र सिंह सेवानिवृत्त होने वाले थे। इसके बाद वह पुलिस की नौकरी में आने से पहले पशुपालन विभाग में अधिकारी थे।

अवैध खनन रोकने पर DSP को डंपर से कुचल कर मार डाला, हरियाणा के मेवात की घटना  - kanv kanv news

खनन माफिया गुरुग्राम और नूंह जिले में खूब सक्रिय हैं। अरावली में हो रही पेड़ों की कटाई पर्यावरण के लिए खतरा बना हुआ है। साथ में अवैध खनन से जीव-जंतुओं की प्रजातियां को भी नुकसान की आशंका है। बावजूद इसके खनन माफिया की गुंडागर्दी जारी है।  खनन माफिया पर पुलिस मुकदमा भी दर्ज कर चुकी है, लेकिन  इससे कोई फर्क नहीं पड़ा है।

नूंह जिले के खेड़लीकलां, झिमरावट, घागस- कंसाली, फिरोजपुर झिरका, शेखपुर के अलावा कई स्थानों पर अवैध खनन और पेड़ों की लगातार कटाई चरम पर है। शिकायतों के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई, क्षेत्र के जान मोहम्मद, मुबारिक, सुंदर ने बताया कि इस प्रकार की शिकायत विभाग को कई बार दी जा चुकी है, लेकिन अरावली में वन विभाग द्वारा लगाए गए चौकीदार लोगों से ही अवैध खनन कराते हैं। साथ में पेड़ों को काटकर आरा मशीन मालिकों को बेच देते हैं ऐसे में चौकीदार रकम कमा रहे हैं।


Comment As: