कानून व्यवस्था

उत्तर प्रदेश के सात शहरों में अलग कानून व्यवस्था

उत्तर प्रदेश के सात शहरों में अलग कानून व्यवस्था

Lucknow: यूपी में योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में पुलिस कमिश्नर प्रणाली के विस्तार को मंजूरी मिली है। जिसके तहत यूपी के 3 और शहरों प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने को कैबिनेट की मुहर लगी है। तीनों जगहों पर पुलिस कमिश्नरों की तैनाती की जाएगी। योगी सरकार ने तीसरे चरण में 3 महानगरों में पुलिस कमिश्नरी लागू की हैं।

बतादें कि  कैबिनेट बैठक में कुल डेढ़ दर्जन प्रस्ताव पास हुए हैं। उत्तर प्रदेश के 7 महानगरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हुई है। लखनऊ में सुजीत पांडे और नोएडा में आलोक सिंह को पहला पुलिस कमिश्नर बनाया गया था। 26 मार्च 2021 को दूसरे चरण में कानपुर और वाराणसी में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हुई थी।

See the source image

बता दें कि 13 जनवरी 2020 को यूपी में सबसे पहले लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हुई थी। लखनऊ में सुजीत पांडे और नोएडा में आलोक सिंह को पहला पुलिस कमिश्नर बनाया गया था। जिसके बाद  26 मार्च 2021 को दूसरे चरण में कानपुर और वाराणसी में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हुई थी। कानपुर में असीम अरुण और वाराणसी में ए सतीश गणेश को पुलिस कमिश्नर बनाया गया था 

अब योगी सरकार ने तीसरे चरण में 3 शहरों में आगरा गाजियाबाद और प्रयागराज में लागू की पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने की मुहर लग गई हैं। जिसके बाद उत्तर प्रदेश में अब 7 महानगरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हो जाएंगी।


Comment As: