Re

शराब के नशे में धुत पिता अपने बेटे को भुला मेले में, 17 घंटे ढूंढ़ने के बाद भी...

शराब के नशे में धुत पिता अपने बेटे को भुला मेले में, 17 घंटे ढूंढ़ने के बाद भी...

शराबी बाप दशहरा पर अपने तीन साल के मासूम बेटे रितेश को मेला घुमाने गया था। मेले के रास्ते में पड़ने वाले शराब की दुकान से शराब पीकर इस कदर मदहोश हुआ कि अपने बेटे को ही भीड़ में भूल गया। बेटे के गुम होने की शिकायत पर सक्रिय हुई पुलिस ने 17 घंटे में ही बालक को ढूंढ निकाला। 

मासूम बेटे की जुदाई में गमगीन पीड़िता श्रीमती मिता देवी ने अपने बेटे को कलेजे से लगाकर गोद में उठा लिया। लापता बालक के मिलने पर पुलिस ने राहत की सांस ली। 

देहात कोतवाली क्षेत्र के पिपराडाड निवासिनी श्रीमती मिता देवी पत्नी अमृतलाल ने पुलिस को सूचना दिया कि उसका पुत्र रितेश दशहरा पर सायंकाल करीब 05 बजे अपने पिता के साथ मेला घुमने निकला था। मेले के भीड भाड में कहीं गुम हो गया। काफी तलाश किये जाने के बाद भी पता न चलने की तहरीर दी। 

सूचना पर मामला दर्ज कर बालक की तलाश आरंभ की गई। पुलिस की सक्रियता से गुमशुदा बालक रितेश को शनिवार को गंगाउत महताब के ईंट भट्ठे के पास से बरामद किया गया। उसके पिता मेला घुमाने के बहाने लेकर निकले थे और खुद शराब पीने के बाद इस कदर मदहोश हुए की अपने बेटे को भीड़ में भूल गए। 

बेटे के लापता होने से बेहाल मिता देवी ने पुलिस से शिकायत की।  सोशल प्लेटफॉर्म का प्रयोग करते हुए पुलिस ने 17 घंटे में ही लापता बालक खोज निकाला और उसकी मां को सुपुर्द कर दिया।  

संतोष गुप्ता

Comment As:

Comment (0)