A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Trying to get property 'meta_keyword' of non-object

Filename: include/header.php

Line Number: 28

Backtrace:

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/views/include/header.php
Line: 28
Function: _error_handler

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/views/dashboard/page_view.php
Line: 1
Function: view

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/controllers/Dashboard.php
Line: 192
Function: view

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/index.php
Line: 316
Function: require_once

"/>

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Trying to get property 'meta_description' of non-object

Filename: include/header.php

Line Number: 29

Backtrace:

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/views/include/header.php
Line: 29
Function: _error_handler

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/views/dashboard/page_view.php
Line: 1
Function: view

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/application/controllers/Dashboard.php
Line: 192
Function: view

File: /opt/bitnami/apache/htdocs/index.php
Line: 316
Function: require_once

"/>
बंदर को हुई उम्रकैद

बंदर को हुई उम्रकैद...जानें क्यों मिली ये सजा ?

बंदर को हुई उम्रकैद...जानें क्यों मिली ये सजा ?

Mirzapur: यूपी के मिर्जापुर में रहने वाला कालिया जो शराब और नॉनवेज का शौकीन हैं और महिलाओं को देखकर अभद्र इशारे करता हैं। इन्हीं कारणों से कालिया 'उम्रकैद' की सजा काट रहा है। जी हां मगर ये बदमाश कालिया और कोई नहीं एक बंदर हैं। जिसे मिर्जापुर से पकड़कर कानपुर लाया गया था। बतादें कि ये कालिया जनाब लगभग 250 लोगों को  घायल कर चुके हैं। जिसके चलते कालिया को कानपुर के चिड़ियाघर में 'उम्रकैद' की सजा काटनी पड़ रही है।

महिलाओं को देख करता है इशारे, शराब और नॉनवेज का शौकीन बंदर काट रहा उम्रकैद की सजा

मिर्जापुर के 'कालिया' कोई इंसान नहीं, बल्कि एक बंदर है, जिसने मिर्जापुर में आतंक मचा रखा था। ये कालिया सोले मूवी का कालिया तो नहीं था मगर फिर भी इस कालिया के नाम से महिलाएं और बच्चे दहशत खाते थे। कालिया ने लगभग 250 महिलाओं और बच्चों को अपना निशाना बनाया था। उन्हें गंभीर रूप से घायल किया था। कालिया की इस करतूतों के बाद वन विभाग ने उसे 'आजीवन कारावास' की सजा सुनाई। इसके बाद कालिया को सजा के तौर पर कानपुर के प्राणी उद्यान में पिंजरे में बंद कर दिया गया।

See the source image

आपको बतादें कि मिर्जापुर में 5 साल पहले कालिया नाम के बंदर ने जमकर आतंक मचा रखा था। वह सिर्फ महिला और बच्चों को ही अपना शिकार बनाता था, और महिलाओं और बच्चों को देखते ही उन्हें काटने को दौड़ पड़ता था। इसके बाद कालिया को कानपुर प्राणि उद्यान के पशु चिकित्सक डॉक्टर मोहम्मद नासिर ने मिर्जापुर से पकड़ा था, तभी से कालिया कानपुर चिड़ियाघर में एक पिंजरे में बंद है।

पिंजरे में बंद कालिया बंदर.

कालिया के स्वभाव में नहीं हुआ परिवर्तन

बतादें कि कालिया को कानपुर प्राणी उद्यान के पिंजरे में बंद करीब 5 साल हो गए हैं, लेकिन उसके व्यवहार में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। जिस कारण कालिया को रिहा नहीं किया जाएगा। उसकी 'उम्रकैद' की सजा बरकरार रहेगी। क्योंकि उसके स्वभाव में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। वह अभी भी अटैक करने को दौड़ता है।

See the source image

ठरकी कालिया करता है इशारे

हैरान करने वाली बात तो ये हैं कि ये ठरकी कालिया महिलाओं को देखकर तरह-तरह के अभद्र इशारे करता है और फिर कुछ बुदबुदाने लगता है। 5 साल से कैद होने के बाद भी अभी भी कालिया महिलाओं को देखते ही अभद्र इशारे करता है और कुछ बुदबुदाने लगता है। साथ ही वह अटैक करने को भी दौड़ता है। जिस वजह से उसको गेट के बाहर नहीं निकाला जाता हैं।

See the source image

तांत्रिक का पालतू था कालिया

कालिया को लेकर डॉ. मोहम्मद नासिर ने बताया कि कालिया को एक तांत्रिक ने पाल कर रखा था। वह उसे खाने में मांस और पीने के लिए दारू देता था। जिस वजह से उसका स्वभाव इतना हिंसक हो गया है। वहीं जब तांत्रिक की मृत्यु हो गई, तब वह लोगों के ऊपर अटैक करने लगा। जिसके बाद इन हरकतो के कारण वन विभाग ने उसे पकड़ लिया था। कानपुर प्राणी उद्यान के पशु चिकित्सक डॉ. मोहम्मद नासिर ने ये भी बताया कि कालिया के आगे के दांत बेहद खतरनाक हैं, वह जिसको काटता है, उसका पूरा मांस उखाड़ लेता है।


Comment As: