नई दिल्ली

पीएम मोदी ने देश भर के युवाओं को सिखाया जीवन जीने की कला

पीएम मोदी ने देश भर के युवाओं को सिखाया जीवन जीने की कला

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के युवा नागरिकों को ‘अधिक से अधिक पढ़ने’ की सलाह देते हुए उनसे प्रेरणा हासिल करने के लिए जीवनियां एवं आत्मकथाएं पढ़ने का आग्रह किया है। ये किताबें आपको प्रेरित करेंगी और आप उन्हें अपने जीवन में लागू कर सकते हैं।’ पीएम नरेंद्र मोदी ने पराक्रम दिवस के मौके पर संसद में नेताजी सुभाष चंद्र बोस को सम्मानित करने के लिए आयोजित समारोह कुछ युवाओं से बातचीत की। ‘अपने नेता को जानो’ कार्यक्रम के तहत चुने गए युवाओं से पीएम ने खुलकर बातचीत की।

प्रधानमंत्री ने उन्हें यह भी सलाह दी कि जब भी वे किसी व्यक्ति के पास जाएं या किसी स्थान की यात्रा करें तो चीजों को ध्यान से देखें और नोट्स भी लें। प्रधानमंत्री मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती के मौके पर युवाओं से बातचीत के दौरान यह बात कही। इस दौरान उन्होंने उनकी आकांक्षाओं के बारे में भी सुना। उन्होंने छात्रों और युवाओं से बातचीत की और उनसे नेताजी के उन गुणों के बारे में पूछा, जिन्हें वे अपने जीवन में शामिल करना चाहेंगे।

पीएम मोदी ने कहा- ‘पहले, हम इन महान लोगों के जन्मदिन के दौरान अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए संसद जाते थे, वहीं से हमें इन महान लोगों के जन्मदिन के दौरान देश भर के युवाओं को बुलाने का विचार आया।’ मोदी ने युवाओं को एक सलाह भी दी। मोदी ने कहा- वे अपने जीवन में किस प्रकार की चुनौतियों का सामना करते हैं और उन्होंने इन चुनौतियों से कैसे पार पाया, यह जानने के लिए ऐतिहासिक हस्तियों की जीवनी पढ़ें।

पीएम से क्या बोले युवा?
इस कार्यक्रम में शामिल हुए एक युवा ने कहा-‘यहां आने के बाद हमें अनेकता में एकता का पता चला। संसद की सीढ़ियां चढ़ते हुए हमें गर्व महसूस हुआ, जहां महान लोगों ने देश के संविधान का निर्माण किया है।’ वहीं एक अन्य युवक ने कहा-‘मैं हमेशा से संसद जाना चाहता था, जहां से देश के विभिन्न हिस्सों में विकास कार्य होते हैं।’वहीं, इस दौरान युवाओं ने पीएम से कहा- विविधता में एकता क्या होती है। ये इस कार्यक्रम में देश के कोने-कोने से इतने सारे लोगों के आने से समझ में आया है। कुछ युवाओं को पीएम से बातचीत का मौका भी मिला।

बता दें कि 80 युवाओं को नेताजी सुभाष चंद्र बोस के सम्मान में संसद में पुष्पांजलि समारोह में भाग लेने के लिए देश भर से चुना गया था। उनका चयन ‘अपने नेता को जानो’ कार्यक्रम के तहत किया गया था। दीक्षा पोर्टल और MyGov पर प्रतियोगिता के जरिए इन युवाओं का चयन किया गया।
 


Comment As: