पाकिस्तान का आर्मी चीफ

ये आदमी बनेगा पाकिस्तान का आर्मी चीफ, क्या भारत की बढ़ेगी मुश्किलें ?

ये आदमी बनेगा पाकिस्तान का आर्मी चीफ, क्या भारत की बढ़ेगी मुश्किलें ?

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के पूर्व प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सैयद आसिम मुनीर को गुरुवार को देश का नया सेना प्रमुख चुना गया हैं। बतादें कि मुनीर निवर्तमान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा की जगह लेंगे, बाजवा 29 नवंबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। जिसके बाद लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ होंगे बता दें कि वे ISI के चीफ रह चुके हैं। बताते चले की जनरल मुनीर वही हैं, जिन्होंने पूर्व PM इमरान खान के आसपास मौजूद भ्रष्‍टाचार के बारे में बताया था। जिसके बाद ही उन्हें उनके पद से हटा दिया गया था। 14 फरवरी 2019 को हुए पुलवामा हमले में भी असीम मुनीर की साजिश थी। जिस तरह से हमला हुआ था, उसमें मुनीर की छाप भी देखने को मिली थी। ये सुनियोजित हमला था, जिसे प्लानिंग और ट्रेनिंग के जरिए ही अंजाम दिया जा सकता था।

See the source image

देश की सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब ने ट्वीट कर ऐलान किया कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने मुनीर को पाकिस्तान का नया सेना प्रमुख नामित किया है। लेफ्टिनेंट जनरल साहिर शमशाद मिर्जा को ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीजेसीएससी) का अध्यक्ष चुना गया है। मरियम औरंगजेब ने ट्वीट किया, "(नियुक्तियों संबंधी) संक्षिप्त विवरण राष्ट्रपति को भेज दिया गया है। " दोनों अधिकारियों को 'फोर स्टार' (वर्दी के कॉलर बैंड पर चार सितारे वाले) जनरल के रूप में पदोन्नत किया गया है। लेफ्टिनेंट जनरल मुनीर ने 'ऑफिसर्स ट्रेनिंग स्कूल' के माध्यम से सेवा में प्रवेश किया, जिसके बाद उन्हें 'फ्रंटियर फोर्स रेजिमेंट' में नियुक्त किया गया।

See the source image

असीम 2018-2019 में 8 महीनों के लिए ISI चीफ रह चुके हैं। इमरान खान ने अपने करीबी फैज हमीद को ISI चीफ बना दिया था और गुजरांवाला कॉर्प्स कमांडर के तौर पर मुनीर का ट्रांसफर कर दिया था। असीम को 2018 में टू-स्टार जनरल के रैंक पर प्रमोट किया गया था, लेकिन उन्होंने इस पोस्ट को 2 महीने बाद जॉइन किया। लेफ्टिनेंट जनरल के तौर पर उनका 4 साल का कार्यकाल 27 नवंबर को खत्म होगा।

See the source image

टकराव के लिए तैयार इमरान खान

कहा जा रहा है कि नए आर्मी चीफ पर दबाव बनाने के लिए ही इमरान ने 26 नवंबर को फौज के ही शहर में रैली करने का ऐलान किया है। इसके अलावा वो सरकार को भी अल्टीमेटम देने जा रहे हैं कि वो जल्द से जल्द जनरल इलेक्शन की तारीखों का ऐलान करे। खान पहले ही कह चुके हैं कि अगर सरकार और उसके पैरोकार (फौज) चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं करते तो वो मुल्क जाम कर देंगे।

See the source image

सरकार और फौज इसलिए परेशान है क्योंकि सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (MBS) को पाकिस्तान के खराब हालात की वजह से पिछले हफ्ते अपना दौरा रद्द करना पड़ा था। 2014 में इमरान की वजह से ही चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पाकिस्तान विजिट कैंसल करनी पड़ी थी। खान की पार्टी ने बुधवार को दावा किया कि 26 नवंबर को होने वाली रैली ऐसी होगी, जैसी पाकिस्तान के इतिहास में कभी नहीं हुई होगी। बतादें कि इमरान के लॉन्ग मार्च में अब तक एक महिला जर्नलिस्ट समेत 3 लोग मारे जा चुके हैं।


Comment As: