full

राजस्थान की मु्खिया कौन ? गहलोत या पायलट  

राजस्थान की मु्खिया कौन ? गहलोत या पायलट  

राजस्थान की मु्खिया कौन ? गहलोत या पायलट  

कांग्रेस के राजनीतिक गलियारो में एक –दुसरे पर आरोप प्रत्यरोप लगाने की होड लगी है वही बात कि जाए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार सुबह पहली बार बागी विधायकों के नाराज होने की वजह खुलकर सामने रखी इसके साथ ही गहलोत ने पायलट गुट पर भी पर भी निशाना साधा एक समारोह में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद जब गहलोत से पूछा गया कि क्या सब ठीक है तो उन्होंने कहा 'कांग्रेस के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि एक लाइन का प्रस्ताव पारित नहीं हो पाया इसका मुझे भी दुख है कि प्रस्ताव पारित नहीं करवा पाया इसलिए मैंने माफी भी मांग लेकिन ये स्थिति क्यों आई?

अपको बता दें की गहलोत ने एक बार फिर पायलट गुट पर गद्दारी का आरोप लगाया है  साथ ही सीएम गहलोत ने कहा कि सभी जानते हैं कि कुछ लोग भाजपा विधायकों के साथ बैठे थे वहीं गहलोत ने कहा कि मैंने अजय माकन से कहा था कि वे सर्वे करा लें कि किसके नेतृत्व में सरकार रिपीट हो सकती है

आपको बता दे कि कांग्रेस पार्ट्री के अध्यक्ष पद के लिए अटकले लगी हुई है वही बात करें अगर राजस्थान में सीएम पद के लिए तो सियासी भूचाल एक सप्ताह बाद भी थमता नजर नहीं आ रहा है कहा जा रहा है कि जल्द ही राजस्थान के सीएम को लेकर फैसला आने वाला है ऐसे में सबकी निगाहें इसपर टिकी है अब देखना होगा  कि अशोक गहलोत अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब होते हैं या सचिन पायलट बाजी मार जाते हैं  मुख्यमंत्री गहलोत ने रविवार को जयपुर के गांधी सर्किल पर महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर नमन किया इसके बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने एक बार फिर सचिन पायलट गुट पर भाजपा से मिले होने का आरोप लगाया

साथ ही गहलोत ने 25 सितंबर के घटनाक्रम पर बात की  उन्होंने कहा जब मैंने प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद डोटासरा को विधायकों को समझाने के लिए भेजा था तो वे बागी MLA इस बात से बहुत नाराज थे कि मैंने उनसे 2020 में वादा किया था कि  मैं आपका अभिभावक बनूंगा विधायक इस बात से नाराज थे कि राजस्थान में अकेले रहने से उनका क्या होगा

राजस्थान के कांग्रेस के समर्थकों का मानना है कि अशोक गहलोत को पीछे धकेलने में कोई बड़ी साजिश है जिसका खुलासा समय पर होगा अगर गहलोत राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते हैं तो कांग्रेस को हिंदी भाषी प्रदेशों में खासी बढ़त मिलती और मोदी और शाह को टक्कर भी मिलती अशोक गहलोत के राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के विचार को भी योजनाबद्ध तरीके से खत्म किया गया है

 Rajasthan CM Ashok Gehlot is at the forefront of the race to become the  Congress President - 'जो जिम्मा सौंपा, निभा रहा हूं' गहलोत के कहने के पीछे  पायलट फैक्टर बड़ी वजह,

 वही बात करें अजय माकन को अब राजस्थान में कबूल नहीं किया जाएगा  बता जा रहा है कि अजय माकन ने पहले दिल्ली फिर पंजाब और अब राजस्थान का बेड़ा गर्क किया है जिससे कांग्रेस को उभरने में खासी मेहनत और समय दोनों लगाना पड़ेगा  कहा जा रहा है कि अगर राजस्थान में मुख्यमंत्री का चेहरा बदला जाता है तो विधायक अपना मन बना चुके हैं कि सरकार और मुख्यमंत्री को विधानसभा में बहुमत नहीं मिल पाएगा राजस्थान में गहलोत समर्थक विधायक अब गहलोत की भी सुनने को तैयार नहीं है अब सीएम के लिए समर्थक सिर्फ गहलोत के नाम पर ही सहमत है उन्हें कोई और नाम नहीं कबूल होगा  

 

 


Comment As: