WhatsApp Image 2022-01-09 at 6

स्पा की आड़ में फल-फूल रहा देह व्यापार, पैसे कमाने के लालच में फंस रहे युवक-युवतियां

स्पा की आड़ में फल-फूल रहा देह व्यापार, पैसे कमाने के लालच में फंस रहे युवक-युवतियां

मसाज पार्लर और स्पा की आड़ में देह व्यापार का धंधा फल-फूल रहा है। 

सहारनपुर में एक भी मसाज केंद्र को भारतीय चिकित्सा परिषद की ओर से मसाज करने की अनुमति नही दी गई है और ना ही जनपद में ऐसा कोई मसाज केंद्र है जहां पर आयुर्वैदिक पद्दति से पंचकर्मा होता है।

नोएडा: मॉल के स्पा सेंटर में चल रहा था ये सब, आपत्तिजनक हालत में मिली  लड़कियां और ग्राहक-Sex racket busted at a Mall in Noida | News24
सभी मसाज और स्पा सेंटर अवैध तौर पर चल रहे हैं, जहां पर बिना चिकित्सक के मसाज पार्लर की आड़ में केवल अनैतिक कार्य किया जा रहा है।

सहारनपुर में करीब 15 मसाज पार्लर व स्पा सेंटर खुले हुए हैं, जो सहारनपुर  की आबोहवा में केवल गंदगी फैला रहे हैं। थाना सदर इलाके की बात करें तो चौकी से महज 20 पर कदम पार्श्वनाथ प्लाजा, होटेल ग्रैंड प्लाजा के नजदीक गिल कालोनी में व पावन वेला मार्किट, चन्द्र नगर, साथ ही सक्षम हॉस्पिटल के सामने, रेलवे रोड लकड़ी के पुल के पास और दिल्ली रोड जिएनजी मॉल में मसाज पार्लर की आड़ में जिस्मफरोशी के अवैध काम जारी है।

इंदौर में फल-फूल रहा जिस्मफरोशी का गंदा धंधा, देह व्यापार में शामिल रहे हैं  दो थानों के पुलिसकर्मी | Wardiwala


वंही थाना सिटी कोतवाली इलाके में घण्टाघर के नजदीक एक होटल व बग्गा पेट्रोल पंप के बराबर में व सामने एक अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग में साथ ही बात करें थाना जनकपुरी इलाके की तो हनुमंत नगर, ट्रांसपोर्ट नगर, कामधेनू में साथ ही अस्पताल चौक नानक डेरी के ऊपर भी स्पा की आड़ में देहव्यापार चल रहा है। हांलांकि जनकपुरी पुलिस ने कुछ दिन पूर्व कार्यवाही के नाम पर लिंक रोड स्पा पर छापेमारी की और वँहा काम करने वाली तीन लड़कियों व एक ग्राहक को धारा 294 के तहत जेल भेजने का काम किया। लेकिन इसके कुछ दिन बर्फ ही बराए सदर पुलिस की मेहरबानी इस मसाज पार्लर का स्वामी आज भी बेख़ौफ़ होकर थाना सदर बाजार क्षेत्र में 3 स्पा मसाज पार्लर चला रहा है।

सलून और स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था देह व्यापार, पुलिस ने तीन लोगों को  रंगे हाथ दबोचा - समय साक्ष्य
कभी-कभी पुलिस इन केंद्रों पर चेकिंग करती है, लेकिन कार्रवाई सिर्फ चालान तक ही सीमित रहती है। इन मसाज पार्लरों की आड़ में स्कूल-कालेज के युवा और युवतियों को बिगाड़ा जा रहा है। फुल बाडी मसाज, बाडी टू बाडी जैसे आकर्षक शब्दों के जाल में फंसकर युवा इस ओर आकर्षित हो रहे हैं। स्वजनों से झूठ बोलकर बच्चे इन केंद्रों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। यही नहीं अधिक पैसा कमाने के लालच में कालेज की युवतियां भी इन दलालों के चक्कर में फंस जाती हैं।
भारतीय चिकित्सा परिषद के बोर्ड की ओर से कुछ समय से मसाज व स्पा केंद्रों लिए मानक तय किए थे। इसमें प्रत्येक केंद्र में एक चिकित्सक व डिप्लोमाधारक मसाज स्टाफ की तैनाती करने को कहा गया था। इसके अलावा केंद्र खुलने से पहले बोर्ड से मान्यता लेनी होगी। प्रत्येक केंद्र में दो महिला व दो पुरुष स्टाफ की तैनाती होगी। यहां तक कि क्रास मसाज करने पर भी पाबंदी लगाई गई थी।

ncr Body Massage in a spa center of Sector 18


लेकिन कुछ चालाक अवैध कारोबारी स्पा सेंटर दिखाने के लिए श्रम विभाग से लाइसेंस ले लेते हैं, जिसकी आड़ में वह देह व्यापार करवा रहे हैं।
दिल्ली सरकार की ओर से स्पा सेंटरों को चलाने के लिए बकायदा मानक बनाए गए हैं, लेकिन उत्तरप्रदेश सरकार अब तक मानक तय नहीं कर पाई है।
मसाज पार्लर की आड़ में इस प्रकार के देहव्यापार को पुलिस के संरक्षण के आरोप भी लगते रहे है
पुलिस खानापूर्ति करने के लिए महीने में स्पा सेंटरों के एक चक्कर लगा देती है, और इसके बाद सेंटरों में क्या चल रहा है, इसकी किसी को जानकारी नहीं होती। स्पा सेंटरों की कार्रवाई के लिए भारतीय चिकित्सक परिषद अधिकृत है, लेकिन पुलिस का सहयोग नहीं मिलने के कारण परिषद भी कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है।।


Comment As: