CBI-issues-lookout-circular-on-Rishi-Agarwal-and-other-directors

भारत के सबसे बड़े बैंक घोटाला में CBI ने जारी किया लुकआउट सर्कुलर, विदेश भागने से रोकने की क़वायद शु

भारत के सबसे बड़े बैंक घोटाला में CBI ने जारी किया लुकआउट सर्कुलर, विदेश भागने से रोकने की क़वायद शु

बैंक धोखाधड़ी का मामले में एबीजी शिपयार्ड (ABG Shipyard) के निदेशक ऋषि अग्रवाल (Rishi Agarwal) सहित अन्य निदेशकों सहित के ख़िलाफ़ लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिया है, जिससे आरोपियों को एयरपोर्ट या किसी दूसरे रास्ते से विदेश भागने से रोका जा सके। शिपिंग फ़र्म के निर्देशकों में ऋषि अग्रवाल (Rishi Agarwal), सांथनम मुथुस्‍वामी (Santhanam Muthaswamy), अश्विनी कुमार (Ashwani Kumar) और रवि विमल नेवेतिया (Ravi Vimal Nevetia) शामिल हैं। यह भारत का सबसे बड़ा बैंक घोटाला माना जा रहा है। अपने बयान में CBI ने कहा है की, “सभी आरोपी भारत में हैं और उनके ख़िलाफ़ LoC खोल दी गयी है, जिससे वो देश छोड़कर न जाने पाएँ।”

ABG Shipyard: How it plunged into debt and defrauded 28 banks of Rs 22,842  cr - BusinessToday

ग़ौरतलब है कि, एबीजी शिपयार्ड (ABG Shipyard), एबीजी ग्रुप (ABG Group) की अग्रणी कंपनी है, जो शिप निर्माण और मरम्‍मत के कार्य से जुड़ी हुई है, जिसके शिपयार्ड (Shipyard) गुजरात (Gujarat) के दहेज (Dahej) और सूरत (Surat) में स्थित हैं। एबीजी शिपयार्ड मामले (ABG Shipyard Case) में जारी किया गया लुकआउट सर्कुलर नोटिस देश के इस तरह के मामलों की सूची में नया है। CBI ने कहा की, एबीजी शिपयार्ड (ABG Shipyard) ने स्‍टेट बैंक (State Bank of India) सहित 28 बैकों के 22,842 करोड़ रुपये की राशि चुकाने में चूक की।”

ABG Shipyard: NCLT directs liquidator of ABG Shipyard to approach Sebi to  recover Rs 101 crore from promoters - The Economic Times

गुजरात (Gujarat) की कंपनी एबीजी शिपयार्ड लिमिटेड (ABG Shipyard Limited) और एबीजी इंटरनेशनल लिमिटेड (ABG International Limited) को 28 बैंकों के कंसोर्टियम ने कर्ज़ दिया था। स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (State Bank of India) के अफसरों के मुताबिक, “कंपनी के ख़राब प्रदर्शन की वजह से नवंबर 2013 में उसका खाता NPA बन गया। कंपनी को उबारने की कई कोशिश हुई है, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। इसके बाद कंपनी का फ़ॉरेंसिक ऑडिट कराया गया, जिसकी रिपोर्ट 2019 में आई। इस कंसोर्टियम की अगुवाई आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) कर रहा था, लेकिन सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक होने के नाते स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (State Bank of India) ने ही CBI में शिक़ायत दर्ज कराई। बैंकों को 22842 करोड़ का नुकसान हुआ, जिसमें सबसे ज़्यादा 7,089 करोड़ का नुक़सान आईसीआईसी बैंक (ICICI Bank) को हुआ है।

Vijaya Mallya, Nirav Modi and Mehul Choksi all coming back india to face  law | विजय माल्‍या, मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को वापस लाया जा रहा है वापस,  कानूनी कार्रवाई का

इससे पहले, पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी घोटाले (Punjab National Bank Fraud Scam) में नीरव मोदी (Nirav Modi) और उसके अंकल मेहुल चौकसी (Mehul Choksi) और बैंक लोन डिफ़ॉल्‍ट मामले में किंगफ़िशर एयरलाइंस (Kingfisher Airlines) के विजय माल्‍या (Vijay Mallya) के ख़िलाफ़ भी ऐसे नोटिस जारी किए जा चुके हैं। ये सभी विदेश में हैं और इनके भारत प्रत्‍यर्पण (Extradition) के लिए प्रयास जारी हैं।


Comment As: